prime-minister-narendra-m
वॉशिंगटन. बराक ओबामा के 8 साल के शासन में भारत-अमेरिका की साझेदारी से कई आतंकी साजिशें नाकाम करने में कामयाबी मिली है। यह अमेरिकी नेशनल सिक्युरिटी काउंसिल में साउथ एशियन अफेयर्स के सीनियर डायरेक्टर पीटर लेवॉय ने कही। यह डेवलपमेंट जारी रह सकता है….
– लेवॉय ने कहा, “ओबामा के 8 साल तक अमेरिका के प्रेसिडेंट रहते हुए आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका की साझेदारी “जबर्दस्त कामयाब’ रही।”
– “मैं पूरे भरोसे के साथ कह सकता हूं कि हमारी साझेदारी से कई आतंकी साजिशें नाकाम की गईं। इस साझेदारी से भारतीयों और अमेरिकियों की जिंदगियां बचाई जा सकीं।”
– “यह बेहद अहम डेवलपमेंट है और मैं सोचता हूं कि आगे जारी रह सकता है।”
भारत का NSG में शामिल होना ग्रुप के लिए रहेगा फायदेमंद
– भारत को चीन के अड़ंगे की वजह से एनएसजी (न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप) की मेंबरशिप नहीं मिल सकी। इस सवाल पर लेवॉय ने कहा, “मेरा मानना है कि किसी देश का नॉन प्रोलिफिरेशन ट्रीटी (एनपीटी) में शामिल हुए बगैर किसी देश का एनएसजी में शामिल होना बहुत, बहुत बड़ी डील है।”
loading…


http://nationfirst.today/wp-content/uploads/2017/01/prime-minister-narendra-m-1.jpghttp://nationfirst.today/wp-content/uploads/2017/01/prime-minister-narendra-m-1.jpgnation_firstspecialदुनियावॉशिंगटन. बराक ओबामा के 8 साल के शासन में भारत-अमेरिका की साझेदारी से कई आतंकी साजिशें नाकाम करने में कामयाबी मिली है। यह अमेरिकी नेशनल सिक्युरिटी काउंसिल में साउथ एशियन अफेयर्स के सीनियर डायरेक्टर पीटर लेवॉय ने कही। यह डेवलपमेंट जारी रह सकता है.... - लेवॉय ने कहा, 'ओबामा के...NATION FIRST TODAY
loading...