नई दिल्ली
बाबर 3 मिसाइल के सफल परीक्षण के पाकिस्तानी दावे पर सवाल खड़ा हो गया है। रक्षा मामलों के जानकारों की नजर में पाकिस्तान आर्मी ने मिसाइल परीक्षण का जो विडियो दुनिया के सामने पेश किया है, वह कंप्यूटर निर्मित है। विश्लेषकों का दावा है कि पाकिस्तान अभी उस काबिल ही नहीं है कि वह उस क्षमता के मिसाइल का अपने दम पर परीक्षण कर ले जिसका दावा वह बाबर 3 के लिए कर रहा है।

पाक के बूते की बात नहीं, चीन ने दिया मिसाइल?
डिफेंस एक्सपर्ट मारूफ रजा ने टाइम्स नाउ से कहा कि पाकिस्तान के पास यह क्षमता नहीं है। यह मिसाइल उसे चीन से मिला होगा। यह पूछे जाने पर कि इस विडियो पर सवाल उठाना कितना सही है, रजा ने कहा, ‘यह बिल्कुल संभव है कि पाकिस्तान ने कंप्यूटर ग्रैफिक का सहारा लिया हो।’ दरअसल, संदेह की बड़ी वजह मिसाइल के ट्रैवल टाइम को लेकर है।

पठानकोट में सैटलाइट इमेजरी ऐनालिस्ट समेत कई एक्सपर्ट्स ने तकनीकी सबूत पेश करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने मिसाइल परीक्षण का फर्जी विडियो दुनिया को दिखाया है

कर्नल (रिटा.) विनायक भट ने एक निजी टीवी चैनल से कहा कि पाकिस्तान आर्मी की ओर से जारी लॉन्चिंग का विडियो कंप्यूटर निर्मित जान पड़ता है। उन्होंने कहा कि विडियो में मिसाइल का रंग सफेद से बदलकर नारंगी हो जा रहा है। इतना ही नहीं, इसकी स्पीड भी इतनी ज्यादा है जो बिल्कुल संभव नहीं है।

loading…


http://nationfirst.today/wp-content/uploads/2017/01/Pak-tests-inhouse-developed-Babur-cruise-missile-indialivetoday.jpghttp://nationfirst.today/wp-content/uploads/2017/01/Pak-tests-inhouse-developed-Babur-cruise-missile-indialivetoday.jpgnation_firstटॉप 10दुनियानई दिल्ली बाबर 3 मिसाइल के सफल परीक्षण के पाकिस्तानी दावे पर सवाल खड़ा हो गया है। रक्षा मामलों के जानकारों की नजर में पाकिस्तान आर्मी ने मिसाइल परीक्षण का जो विडियो दुनिया के सामने पेश किया है, वह कंप्यूटर निर्मित है। विश्लेषकों का दावा है कि पाकिस्तान अभी उस...NATION FIRST TODAY
loading...