RAW_India

 

आपने RAW के बारे में तो सुना ही होगा। यह भारत की खुफिया सेवा है। ये बेहद ही विषम परिस्थितिओं में काम करते हैं और परोक्ष रूप से भारत को खतरों से बचाते रहते हैं।

परन्तु असल जिन्दगी के “जेम्स बांड” के कारनामे और ऑपरेशंस जनसामान्य तक नहीं पहुँच पाते ।

बॉन्ड!… मैं हूँ जेम्स बॉन्ड! जब बॉन्ड अपना परिचय इस रोबीले अन्दाज में कराता है, तो जी करता है, काश! हमारी भी ज़िंदगी इतनी ही रोबदार होती। हर कदम पर अंज़ान पहेलियों की गुत्थियां, आश्चर्य से भरा सफ़र, रफ्तार, जोखिम और हर जोखिम से लड़ कर पहेलियों को सुलझा लेने का ज़ज़्बा।

खैर ये बात तो हो गई बचपन के सपने की और हमारे सपनों को हवा देने वाले फ़िल्मों की। पर आज मैं जिसकी बात करने जा रहा हूं, यह वे कारनामें हैं, जिनको भारत के रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) ने मुश्किल परिस्थितियों में भी कर दिखाया और दुनिया का एक विश्वनीय खुफिया एजेंसी बन गया। आइए एक नज़र डालते हैं, रॉ के बेहद खुफिया कारनामों पर ।

आगे की स्लाइड पर देखिए बांग्लादेश का मिशन

http://nationfirst.today/wp-content/uploads/2016/07/kkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkk-2.jpghttp://nationfirst.today/wp-content/uploads/2016/07/kkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkk-2.jpgnation_firstspecialटॉप 10  आपने RAW के बारे में तो सुना ही होगा। यह भारत की खुफिया सेवा है। ये बेहद ही विषम परिस्थितिओं में काम करते हैं और परोक्ष रूप से भारत को खतरों से बचाते रहते हैं। परन्तु असल जिन्दगी के “जेम्स बांड” के कारनामे और ऑपरेशंस जनसामान्य तक नहीं पहुँच पाते...NATION FIRST TODAY